Sunday, 17 February 2013

कैसे कहूँ ...???


     
कैसे कहूँ प्यार है तुमसे ...?
दिन कटता है ख्यालों में तेरे ,
रात गुजरती है सपनों में तेरे ,
तेरी ही तस्वीर हर वक़्त आँखों में मेरे ,
कैसे बयाँ करूँ हाल ये तुमसे,
कैसे कहूँ प्यार है तुमसे ...?
तेरी खुसी में अपनी खुसी ढूंढता हूँ ,
तेरी मुस्कान में अपनी हँसी ढूंढता हूँ ,
तेरे गम में अपनी आँखों को रोते देखता हूँ ,
जीवन का हर लम्हा कुर्बान है तुमपे,
कैसे कहूँ प्यार है तुमसे ...?
ख़ुदा के बदले पूजता हूँ तुझको ,
जूनून की हद तक चाहता हूँ तुझको ,
मेरी मुहब्बत का वास्ता है तुझको ,
ज़रा सोच लो इन अल्फ़ाज़ों को दिलसे ,
कितना प्यार करता हूँ तुमसे ,
कैसे कहूँ प्यार है तुमसे ...?

No comments:

Post a Comment