Thursday, 8 March 2012

आई होली!!!

फिर से रंग  घुली है फिजाओं में,
उड़ रहा है गुलाल हवाओं  में ,
खुशियों का लहर चेहरे पे खिली,
आई होली ...रंगों की होली ........(१)
पिचकारी से छूटे फुहार,
रंगों की हो जाये बौछार ,
दुनियाँ  आज रंगों की मतवाली,
आई होली...मतवाली होली....(2)
गालों पर गुलाल चेहरे है  लाल,
हुडदंग मचाये टोली के बाल ,
प्रिया  संग प्रीतम करे आँख-मिचोली ,
आई होली... मस्ती की होली......(३)
भूल कर अपना पहचान ये सारा  ,
फैलाए सन्देश अमन भाईचारा ,
दुश्मन भी बोले प्यार  की बोली 
आई होली ...प्यार  की होली......(4)